Arvind akela kallu environmental protection
‘कल्लू’ का करारा जवाब

जहां एक तरफ पिछले दिनों भोजपुरी सुपरस्‍टार निरहुआ और यूट्यूब क्‍वीन आम्रपाली की जोड़ी ने होली पर दहेज-प्रथा पर निशाना साधा है, वही दूसरी तरफ हालही में भोजीवुड के चॉकलेटी हीरो अरविन्द अकेला उर्फ़ कल्लू ने भी एक गीत के माध्यम से इसे भीख मांगने का एक सामाजिक तरीका बताया हैं। साथ ही इसके विरुद्ध करारा जवाब भी दिया।

इसे भी पढ़े: ‘खुद्दार’ में नजर आएगा आइटम क्वीन ‘सीमा सिंह’ का डांसिंग जलवा…. सेट से किया फोटो शेयर

दरअसल निरहुआ आम्रपाली के होली एलबम का वीडियो हिट होने के बाद कल्लू ने भी अपनी ऑफिसियल संगीत निर्माण कंपनी के द्वारा गाने का ऑडियो बाजार में उतारा। इसकी प्रतिक्रिया में उन्होंने अपने सोशल अकॉउंट से इसका पोस्टर सांझा करते हुए इसके लिंक के साथ साथ गाने के महत्व को बतलाया हैं। कल्लू इस गीत के माध्यम से दहेज प्रथा की बुराइयों को सामने ला रहे है।

Advertisement

इसे भी पढ़े: ‘गिरफ्तार’ के बाद पूनम दुबे करेगी ये बड़ी फिल्में, जानने के लिए अभी पढ़े

उन्होंने इसके लिए लिखा “दहेज़ एक प्रथा नहीं है भीख मांगने का एक सामाजिक तरीका है, फर्क इतना है बस देने वाले का सिर झुका होता है और लेने वाले का सिर फक्र से उठा होता है आज तक मेरे समझ में ये नहीं आया कि दहेज़ के धन से कोई कितना अमीर बन जायेगा जो अपने मेहनत की कमाई से अमीर नहीं बन सका तो क्या वो किसी मजबूर बाप के धन से अमीर बनेगा।

आगे लिखते हुए उन्होंने बताया इस समाज के कुरित के खिलाफ सबको एक जुट होना पड़ेगा सबको अपने अपने अस्तर से इसकी लड़ाई लड़नी पड़ेगी, मैं एक सिंगर होने के नाते अपने गाने के माध्यम से लोगो को जागरूक करने का एक छोटा सा प्रयास किया है अगर अच्छा लगे तो आप लोग शेयर कर के मेरी आवाज को समाज के हर कोने में पहुचाये…!!”