Wednesday, May 22, 2024
HomeGossipमेरी दुनिया में इतनी जो शौहरत हैं, मेरे पिता की बदौलत हैं...

मेरी दुनिया में इतनी जो शौहरत हैं, मेरे पिता की बदौलत हैं – अरविन्द अकेला ‘कल्लू’

Arvind akela kallu with his father
मेरी दुनिया में इतनी जो शौहरत हैं, मेरे पिता की बदौलत हैं – अरविन्द अकेला ‘कल्लू’

कहते हैं कि एक पिता को अपने बेटे का बाप कम दोस्‍त ज्‍यादा बनना चाहिए। और आज हर पिता अपने बेटे के लिए उन सभी पलों को जुटाने में लगे रहते हैं जिसमे उनके बेटे की ख़ुशी छिपी हैं। अक्‍सर आपने अपने, किसी रिश्‍तेदार या दोस्‍त के परिवार में पिता और पुत्र के बीच दोस्‍ती कम ही हो पाती देखि होगी। और इसके पीछे कई वजहें हैं। मगर इस बात को गलत साबित करते हुए अरविन्द अकेला कल्लू ने एक नया उदाहरण दिया हैं।

इसे भी पढ़े:कल्लू का गाना 940,334 से ज्यादा views पार

भोजपुरी फिल्मो के सुपरस्टार अरविन्द अकेला ‘कल्लू’ का कहना हैं की “मेरी दुनिया में इतनी जो शौहरत हैं, मेरे पिता की बदौलत हैं” जी हां, कल्लू आज जिस मुकाम पर हैं उसका पूरा श्रेय वो अपने पिता को देते हैं क्योकि उनके पिता उनसे बेहद प्रेम करते हैं और कल्लू भी अपने पिता से बहुत प्यार करते हैं।

इसे भी पढ़े:अहमदाबाद के स्टेज शो पर ऐसे चमके अरविन्द अकेला ‘कल्लू’

करियर के प्रारम्भ से ही कल्लू के पिता ने उन्हें काफी सपोट किया हैं। अरविन्द ने अपने पिता के प्रति इतनी बड़ी बात बोलते हुए एक फोटो शेयर की हैं जिसमे उनके पिता उनके साथ नज़र आ रहे हैं। अरविन्द ने इस फोटो के लिए लिखा हैं “मेरी दुनिया में इतनी जो शौहरत हैं, मेरे पिता की बदौलत हैं”


बताते चले अरविन्द अकेला कल्लू के महापर्व छठ पूजा हेतु छठ मईया को समर्पित ‘धनिया आवतानी छठ करे’ छठ गीत को 940,334 से अधिक लोगों ने यू ट्यूब पर देखा है। ये गाना एल्बम “असो छठ करे के” से संगठित हैं। पारंपरिक श्रद्धा व भक्ति से परिपूर्ण इस गीत को संगीतप्रेमियों का भरपूर प्यार मिल रहा है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -