Friday, April 12, 2024
HomeTV ShowsAnupama Written Update in Hindi 03 June 2023

Anupama Written Update in Hindi 03 June 2023

डिंपी बरखा को बताती है कि वह जल्द ही समर को उसके परिवार से हमेशा के लिए दूर कर देगी। इसके बाद, अनुज डिंपी की बलाईया लेता है। बाद में, अनुपमा अपने बेटे समर की बारात के साथ कपाड़िया निवास पर पहुंचती है और अनुज उसे देखकर मदहोश हो जाता है।

माया ने बदला अपना रूप, अनुज को रिझाया अपनी चाल में

स्टार प्लस पर आने वाले शो अनुपमा की कहानी में दर्शक ने पिछले एपिसोड में देखा अनुपमा अपने बेटे समर को बड़े ही प्यार से देखती हैं। उसे दूल्हा बनते देख वह भावुक हो जाती है। समर और डिंपी की शादी के बंधन में बंधने पर पूरा घर जश्न मनाता है। अनुपमा समर को समझाती है कि विवाह एक साझेदारी है जिसमें दोनों को ही एक दूसरे को समझना चाहिए, एक दूसरे के दुःख दर्द बाटने चाहिए और एक दूसरे का हमेशा साथ देना चाहिए।

बरखा ने चली अपनी चाल

आज के एपिसोड में दर्शक अनुपमा को अपने बेटे समर की बारात की तैयारी करते देखेंगे। अनुपमा सभी के लिए ब्रोच तैयार करके लाती हैं। फिर बा सभी को एक-एक चांदी की छल्ला देती है। बा कहती है कि यह चांदी के छल्ले पहनने से मन शांत हो जाता है। तभी बाबूजी बा का मजाक उड़ाते है और कहते हैं कि ये छल्ले तुम्हें अपनी सारी उंगलियों में पहन लेने चाहिए। तब बा जवाब देती है की इसकी जरूरत डिंपी को पड़ेगी क्योंकि वह तो घर में आते ही कोहराम मचाने लगती हैं। दूसरी ओर, जहां डिंपी अपनी शादी के लिए तैयार होती है, वहीं उसे जल्द ही इस बात का अहसास हो जाता है कि आगे का सफर काफी खतरनाक साबित होने वाला है। फिर भी, वह इन बाधाओं का डटकर सामना करने के लिए तैयार है, इसलिए लड़ना है लेकिन प्यार से विनम्र से। डिंपी की बात सुनकर बरखा भी आ जाती है और उसे उकसाने की कोशिश करने लगती है। बरखा ने डिंपी से कहा कि उसे अनुपमा की तरह अपने ससुराल वालों को खुश करने की कोशिश नहीं करनी चाहिए क्योंकि उन्होंने उसके साथ बुरा बर्ताव किया था। बरखा ने डिंपी को चेतावनी देते हुए कहा की अच्छे के चक्कर में तुम कहीं बेवकूफ मत हो जाना। वो कहती है की कभी भी बा को अपने सिर पर नाचने मत देना।

बरखा ने किया बखेड़ा खड़ा

बरखा ने डिंपी से कहा कि समर के करीब रहना बहुत जरूरी है। डिंपी कहती हैं कि समर हमेशा से अपने परिवार के साथ रहा है, लेकिन मैं उसे ऐसा कभी नहीं करने दूंगी। उसे उसके परिवार से अलग कर के रहूंगी। बाद में अनुज, माया और अंकुश डिम्पी की बलाई लेते हैं। दूसरी और दिखाया जाता है कि अनुपमा अपने बेटे समर की बारात लेकर कपाड़िया हाउस पहुंचती है तभी, अनुज उसे देखता ही रह जाता है। इस बीच, माया अनुज का दिल जीतने की कोशिश करती है, लेकिन वह उससे दूरी बनाए रखता है। बरखा अनुज से पूछती है कि वह कब यहाँ से जाने का प्लान बना रहा है, इस पर अनुज जवाब देता है कि वह तब तक रहेगा जब तक अनुपमा अमेरिका नहीं जाती। माया बरखा को यह भी कह देती है कि उन्हें यहीं पर रहना चाहिए क्योंकि यह उनका ही घर है। जब तक हम यहां हैं अनुज अपना बिज़नेस संभाल लेंगे और मेरा भी काम हो जाएगा जिसके लिए मैं यहां आई हूं। माया का तेवर देख बरखा हैरान हो जाती। उधर, वनराज अपने पिता बनने की खुशी में काफी इमोशनल हो जाता है। काव्या, वनराज से कहती है कि आने वाले इस बच्चे ने मुझे वह खुशियाँ दी है जिसे मैं हमेशा से पाना चाहती थी अब मैं इसे अकेले भी पाल सकती हूं।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -