‘पद्मावती’ पर जयपुर के इतिहासकारों की राय….. ऐतिहासिक तथ्यों के बारे होगी समीक्षा

0
65
New look of Shahid in Padmaavati
'पद्मावती' पर जयपुर के इतिहासकारों की राय
New look of Shahid in Padmaavati
‘पद्मावती’ पर जयपुर के इतिहासकारों की राय

संजय लीला भंसाली की बिग बजट फिल्म पद्मावती को इसी साल दिसम्बर की शुरुआत में रिलीज किया जाना था लेकिन कर्णी सेना के विरोध के बाद फिल्म की रिलीज डेट को आगे बढ़ा दिया गया है। करणी सेना और राजपूत नेताओं ने फिल्म निर्माता पर रानी पद्मावती के बारे में ऐतिहासिक तथ्यों को तोड़ मरोड़कर प्रदर्शित करने का आरोप लगाते हुए इसका विरोध किया था। इसलिए विवादित फिल्म ‘पद्मावती’ में ऐतिहासिक तथ्यों के बारे समीक्षा करने के लिए सेंसर बोर्ड ने जयपुर के दो अनुभवी इतिहासकारों को बुलाया हैं।

इसे भी पढ़े: ट्विंकल के जन्मदिन पर अक्षय कुमार की लम्बी सैर, सेलिब्रेट करेंगे कुछ स्पेशल तरीके से

इन दो इतिहासकारों मे वरिष्ठ इतिहासकार प्रफेसर आर एस खंगारोत और राजस्थान विश्वविद्यालय के सेवानिवृत्त प्रफेसर बी एल गुप्ता शामिल हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दे प्रफेसर बी एल गुप्ता राजस्थान विश्वविद्यालय में इतिहास के प्रोफेसर हैं और वे मध्ययुगीन काल के दौरान भारत पर कई किताबें लिख चुके हैं, जबकि खांगराट अग्रवाल कॉलेज प्रमुख हैं।

इसे भी पढ़े: हेट स्टोरी एक्ट्रेस ‘सुरवीन चावला’ की शादी….. फोटो हुई वायरल

इसके लिए खांगराट ने कहा, “फिल्म ‘पद्मावती’ को लेकर टकराव सिर्फ कर्णी सेना और निर्माता-निर्देशक संजय लीला भंसाली के बीच ही नहीं, बल्कि भंसाली और इतिहासकारों के बीच है, यही वजह है कि हम एक बार फिल्म देखेंगे, जिससे स्पष्ट हो जाएगा कि इसमें इतिहास के साथ छेड़छाड़ की गई है या नहीं।”

#Repost @deepikapadukone #Padmavati

A post shared by Padmavati (@filmpadmavati) on


सेंसर बोर्ड ने फिल्म ‘पद्मावती’ देखने के लिए इन दो अनुभवी इतिहासकारों को बुलाया है और उनसे फिल्म पर राय मांगी है। अब देखना यह हैं की फिल्म को हरी झंडी कब तक मिलती हैं। और फिल्म पर अंतिम रुप से क्या फैसला लिया जायेगा ?