Sunday, February 25, 2024
HomeBhojpuri Album Songsमर्द के होली | Pawan Pardesi | Lyrics

मर्द के होली | Pawan Pardesi | Lyrics

पवन परदेशी की आवाज में मर्द के होली भोजपुरी सॉन्ग एक 1080p HD विडियो ट्रैक हैं। भोजपुरी एल्बम “मर्द के होली” का यह गाना विमलेश बाबा ने लिखा है जबकि इसका म्यूजिक आशीष वर्मा ने कंपोज किया हैं। प्रवीण यादव द्वारा निर्देशित गीत वेव म्यूजिक की तरफ से नयी प्रस्तुति हैं।

जब सजनी कुंवारी ती तब उसके आशिक का हक़ था लेकिन शादी हो जाने के बाद वो अपने पति के संग होली खेलेगी। सजनी को उसके पिया ने नयी साडी लाके दी हैं जिसे पहने गौरी अपने पिया के संग होली खेलेगी। लेकिन होली के आने पर सजनी का पुराना आशिक उससे छेड़छाड़ कर रहा हैं और उसे अपने रंग में रंगना चाहता हैं।

Marad Ke Holi Song Lyrics

रही कुंवारे तो जितना लइले पहला खूबे तू मारेला मजा हो
तो होली मर्द के काहे खिसी यालो मजनूआ हउ रंग जनि डाला
तो लइहा पूड़ी लाईल बानी खालो मजनूआ रंग जनि डाला

पियवा के दिहले बाटे साया साडी चोलिया हो
उन्ही से खेलब अब हम रंगवा से होलिया हो
तो धइले चुम्मा लेके हो भोलो मजनूआ हउ रंग जनि डाला
तो लइहा पूड़ी लाईल बानी खालो मजनूआ रंग जनि डाला

करा छेड़ छाड़ नहीं दूसरा के धन में हो जाइब भतार की हा
अबकी लगन में हो
तो जवन लेला बाड़ा रंग नानी डाला मजनूआ हउ रंग जनि डाला
तो लइहा पूड़ी लाईल बानी खालो मजनूआ रंग जनि डाला

अन्य भोजपुरी गाने :

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -