“निमिया के गछिया” भोजपुरी एल्बम का सॉन्ग आरा के मेला वेव म्यूजिक की ओर नयी प्रस्तुति हैं। इस गीत में आवाज रितेश पांडेय ने दी हैं। अरुण बिहारी ने गाने के प्यारे से बोल लिखे हैं। गीत का म्यूजिक आशीष वर्मा से कम्पोज किया हैं।

बाबा बक्सर के मेले में यात्रियों की भीड़ लगी है। मेले की भीड़ देखके लोग एक दूसरे का हाथ थामे हुए हैं | माता के दरबार में भक्त विनती कर रहे हैं। माता के लिए लाल चुनरी लेके आ रहे हैं। माता के मेले मे भक्त बड़े बड़े झूलो में झूला खा रहे हैं।

Ara Ke Mela Song Lyrics

सुनो ऐ जीजा के भाई हमके दो मेला घुमाई
संग ही के झूलके झुआ चाट चाउमीन खाइल जाइ
भीड़ बड़ी होला घवराई जाईबू आरा के मेले में भुलाई जाईबू
भीड़ बड़ी होला घवराई जाईबू बकसर के मेले में भुलाई जाईबू

Advertisement

भीड़ होइ जहि चलव बही अंगूरी पकड़ के
देखी तो का कही लोग गांवभर के
काहे तू इतना डराले जीजा
जानी बात भाउजी तो जानी नतीजा
सासाराम बनारस के पंडाल बनेला भारी ‘
वही से चुनरी चढ़ाइबू मैया के द्वारी
भीड़ बड़ी होला घवराई जाईबू बकसर के मेले में भुलाई जाईबू

अरुण बिहारी कोनो बीन सीन निशानी
बोला के लेबू साली सोना के चांदी
गहना न सूट सलवार हो
सिंदुरिया से मांग तोहार सजादे हो
माई हरिया से जाके विनती तू कर आ
पूरा होइ मन के ललसा
भीड़ बड़ी होला घवराई जाईबू बकसर के मेले में भुलाई जाईबू

अन्य भोजपुरी गाने भी देखे :