गुंजन सिंह की आवाज में मुखिया के फुलवारी में भोजपुरी सॉन्ग एक 1080p HD विडियो ट्रैक हैं। “मुखिया के फुलवारी में” एल्बम का यह गाना उमेश अनमोल ने लिखा है जबकि इसका म्यूजिक आशीष वर्मा ने कंपोज किया हैं। इस गीत के निर्देशक शुशांत सिंह हैं।

मुखिया के बाग़ में गौरी अमरुद खा रही हैं। ऐसा काम करने पर उसकी गांव में चर्चा चल रही हैं और उसकी ओढ़नी पर हरा दांग लगा हुआ हैं वो अभी तक छोटी और कुंवारी हैं। अमरुद खाने के चक्कर में पेड़ पर से गिर गई हैं।

Mukhiya Ke Fulwari Me Song Lyrics

डाडीये डाडीये खायत रहु मुखिया के फुलवारी में
अमरुदिये कारण गोड़ मुछु कइलो ऐ ननदो

Advertisement

गिरके मुछु कइले हाकी मुखिया से पट काइलू
अमरुदिये कारण गोड़ मुछु कइलो ऐ ननदो

अब ल्यादी झंडू बाम तनी मिल जाई आराम
तनी करा नाही ऐसा काम ना ता हो जइबू बदनाम
हरिया दांग लगबा कइसे ओढ़नी के किनारी में
आपन फूलल फूलल गाल कुछु कइलो ऐ ननदो
अमरुदिये कारण गोड़ मुछु कइलो ऐ ननदो

जनी कूदा फ़ानी करा ननदो बड़ी काच कुँवार
अब गोड़े नु मुछ कइलू टूट जाई डाड
कहियो जन धराईलो गुंजन के अक़बाली में
अमरुदिये कारण गोड़ मुछु कइलो ऐ ननदो

अन्य भोजपुरी गाने :