खेसारी लाल यादव और प्रिंयका सिंह की मीठी आवाज कुद जाई बहsरी टीम फिल्म्स की तरफ से शानदार प्रस्तुति हैं। “जिला चम्पारण” भोजपुरी फिल्म के गाने का म्यूजिक मधुकर आनंद ने कम्पोज किया हैं। इस गाने के गीतकार आज़ाद सिंह हैं।

लाखो रुपये के आभूषण पहर के गौरी अपना तेवर दिखा रही हैं। उसकी पांच फिट हाइट और छोटी घघरी पहर के घूम रही हैं। उसके गोरे बदन को देखकर लोग उसके आगे पीछे घूम रहे हैं और उसकी भरी जोबन की अंगड़ाई को देखकर प्रेमी मन ललचा रहा हैं।

Kud Jaai Bahari Song Lyrics

लाखो के पहर के जेवर दिखावा तारु तेवर
पांच फिट हाइट बबिता भरके घघरी
छलकता ढील लागे कुद जाई बहsरी

Advertisement

लव के वायरस का हैं पहिला भतारु
बाप के पैसा माफी में मिलेला तारु
मैं कवानी राजा लेवे देवे ना मजा
हमके देखे सभे हो जाला ताजा
कही बैठके लगावाना कचहरी
छलकता ढील लागे कुद जाई बहsरी

कसमे रहे जनि भाभी नूडल करा
फैशन के दरिया में ना तू बुढल करा
तोहरा जैसा मर्द जब संग में होखी
अपना मन के करब ना रुकी
छलकता ढील लागे कुद जाई बहsरी

अन्य भोजपुरी गाने :