प्रदीप पांडेय, काजल यादव, अमृता आचार्य और कुनाल सिंह स्टारर भोजपुरी फिल्म “ससुराल” का सॉन्ग धीरे धीरे टुट रहीलबा वीनस रीजनल की ओर से प्रस्तुत किया गया हैं। इस गाने में आवाज खुशबू जैन और ममता राउत ने दी। गाने में संगीत निर्देशन राजकुमार आर पांडेय का हैं। फिल्म के निर्माता व निर्देशक राजकुमार आर पांडेय हैं।

सजनी की अखिया बैचन हैं उसके अंगना कोई मेहमान आ रहा है। सजनी उम्र सोलह सतरा साल की बता रही हैं। सजनी की चूड़ी खन खन खनक रही हैं और उसकी आँखों का काजल चहक रहा हैं।

Dhire Dhire Tut Rahilba Song Lyrics

काहे कजरा चहके हाय रब्बा गजरा भी महके हाय रब्बा
कहे चूड़ी कहके खन खन कुछ करले गौरी आज जतन

Advertisement

सोलह सतरा बीत गईल अब अठरहवा मोहे लागा रे
धीरे धीरे टुट रहीलबा चोली के सब धागा रे

मेरी सखी सहेली लर आवो ना मोहे दुल्हन आज बनायो ना
कोई मेहमा आया हैं दिल का लेके दुपट्टा मलमल का
आज संवरे छत पे मेरे बोल रहा था कागा रे
धीरे धीरे टुट रहीलबा चोली के सब धागा रे

कोई वेद बुलाओ सखिया रे मेरी नस दिखायो सखिया रे
मेरी जान बचाओ सखिया रे बैचेन हुई मेरी अंखिया रे
शर्म निगोड़ा बनके पंक्षी आँखों से उड़ भागा रे
धीरे धीरे टुट रहीलबा चोली के सब धागा रे

अन्य भोजपुरी गाने :